देसंविवि पहुँचे जाने माने भौतिक विज्ञानी डॉ अलेक्जेंडर

देसंविवि पहुँचे जाने माने भौतिक विज्ञानी डॉ अलेक्जेंडर
विद्यार्थियों ने जाने प्रणाली विज्ञान एवं उसके विकास के गुर

       अमेरिका के जाने माने भौतिक विज्ञानी एवं इंटरनेशनल सोसायटी आफ सिस्टम साइंसेस के अध्यक्ष डॉ अलेक्जेंडर लैस्जलो अपने तीन दिन के प्रवास पर देवसंस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज पहुंचे। जहाँ वे भारतीय संस्कृति एवं अध्यात्म पर गायत्री परिवार एवं देसंविवि द्वारा किये जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों का अध्ययन करेंगे। उल्लेखनीय है कि इस संस्थान से जुड़े सभी पूर्व अध्यक्ष नोबल पुरस्कार से सम्मानित हैं।
       अमेरिका प्रणाली विज्ञान एवं विकास के प्रोफेसर के रूप में ख्याति प्राप्त डॉ अलेक्जेंडर ने देसंविवि के विद्यार्थियों को इस क्षेत्र में कार्य करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने विद्यार्थियों से प्रणाली विज्ञान एवं अध्यात्म के संबंध में गहरी पैठ के लिए नई तकनीकियों की अद्यतन घटनाओं से अवगत होते रहने की सलाह दी। उन्होंने विद्यार्थियों की विविध जिज्ञासाओं का समाधान भी किया।
       देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या से अनौपचारिक भेंट में उन्होंने बताया कि देवभूमि उत्तराखंड में भौतिक विज्ञान में काफी कुछ किया जा सकता है। इसके निमित्त उन्होंने देसंविवि से सहयोग की इच्छा प्रकट की। डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने अपने संस्थान की ओर से हर संभव सहयोग करने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति के विकास एवं परिष्कृत अध्यात्म जैसे विभिन्न महत्वाकांक्षी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के गायत्री परिवार के साथ देसंविवि परिवार संकल्पित है। इसके लिए हम हर उन संगठन व शैक्षणिक संस्थान का सहयोग करेंगे,जो नि:स्वार्थ भाव से इस दिशा में कार्य कर रहे हैं या करना चाहते हैं। डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने डॉ अलैक्जेंडर को युगऋषि पं. श्रीराम शर्मा आचार्य जी एवं देसंविवि की विभिन्न साहित्य भेंट किया।