विद्यार्थियों को प्रकृति के करीब लाने का एक अप्रतिम प्रयास “पहचाने चलकर अपना परिसर” । प्रकृति की अनुकंपा से परिपोषित देव संस्कृति विश्वविद्यालय परिसर मेंRead More →

इस बार पर्यावरण विज्ञान, पत्रकारिता, पर्यटन, ग्रामीण अध्ययन एवं सुचना प्रौद्यौगिकी के स्नातकों ने लिया शांतिकुंज की दिव्यता का लाभ | विद्यार्थी जीवन अनुशासन कोRead More →

प्रक्रति पहली चिकित्सक है, यह बात हम बचपन से लेकर आज तक सुनते आ रहे है | प्रकृति के द्वारा उपचार प्राचीन समय से आजRead More →

योग के विद्याथिर्यों ने पाया प्रकृति का सानिध्य प्रकृति  और मनुष्य का अनंत एवं अटूट संबंध है। जैसे-जैसे यह संबंध उपेक्षा का शिकार हो रहाRead More →

इस बार भविष्य के तकनीकी के जानकारों एवम भावी शिक्षकों ने लिया शांतिकुंज की आध्यात्मिक जीवन शैली का लाभ  वर्तमान का समय तकनीकी एवं विजानRead More →

देव संस्कृति विश्वविद्यालय में हुई नई शुरूआत। अब यहां के विधार्थी लेंगे युगतीर्थ शांतिकुंज में रहने का लाभ। शांतिकुंजः- गंगा की गोद, हिमालय की छायाRead More →