6 मार्च को देवसंस्कृति विश्वविद्यालय में फूलों की होली मनाई गयी। वहीं छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से होली के मजा को चैगुना कर दिया। होली का मुख्य पर्व देसंविवि की मातृसंस्था गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में प्राकृतिक रंगों से मनाई गयी। वरिष्ठ कार्यकर्त्ताओं सहित देसंविवि के अभिभावक कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या ने विद्यार्थियों के संग रंग-बिरंगे फूलों के साथ होली खेली। विद्यार्थियों ने एक-दूसरे को गुलाल लगाते हुए गले मिले, आचार्यों को चंदन लगाकर उनसे आशीष लिया, तो वहीं कुलाधिपति ने सभी विद्यार्थियों को गुजिया बाँटकर वर्ष भर मिठाई की तरह मीठा आचार-विचार करने की प्रेरणा दी। आम्रकुंजों के बीच आयोजित होली मिलन समारोह के अवसर पर कुलपति शरद पारधी, प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या, कुलसचिव संदीप कुमार सहित सभी आचार्य गण एवं विद्यार्थी उपस्थित थे।