गायत्री विद्यापीठ के पांच विद्यार्थी राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित

गायत्री विद्यापीठ शांतिकुंज के तीन स्काउट दो गाडस को राष्ट्रपति पुरष्कार से नवाजा गया है। इन विद्यार्थियों को वर्ष २०१३ में उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर चयनित किया गया था। इन छात्रछात्राओं को संस्था की अधिष्ठात्री शैल दीदी देव संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ प्रणव पण्ड्या ने प्रशस्ति पत्र भेंटकर सम्मानित किया। शांतिकुंज के व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा ने इन बच्चों का मुंह मीठा कराया एवं आशीष प्रदान किया।

वर्ष २०१३ के लिए चयनित विद्यापीठ के स्काउट पार्थ सिंह, अविनाश साहू, सौमित्र मिश्र एवं दो गाइड दीक्षा नम्या मिश्रा को यह पुरस्कार पिछले दिनों स्काउट गाइड के मुख्यालय से प्राप्त हुआ था।

इस अवसर पर गायत्री परिवार के प्रमुख डॉ प्रणव पण्ड्या ने कहा कि स्काउट गाइड बाल्यावस्था में ही बच्चों में सेवा, सहयोग एवं टीम भावना को विकसित करने की प्रक्रिया का एक नाम है। बच्चों को स्काउट गाइड के विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से जो शारीरिक बौद्धिक क्षमता को बढ़ाने के उपाय किये जाते हैं, उससे विद्यार्थियों में विकास की संभावनाएँ बढ़ती है। संस्था प्रमुख शैलदीदी ने कहा कि बचपन में सीखे गये अच्छे संस्कार ही सुंदर भविष्य का निर्माण करता है। विद्यापीठ के उपप्रधानाचार्य ने बताया कि पिछले कई वर्षों से गायत्री विद्यापीठ के बच्चे स्काउट गाइड के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित हो रहे हैं। यह विद्यापीठ के लिए हर्ष की बात है। उन्होंने बताया कि वर्ष २०१४ के लिए गायत्री विद्यापीठ के स्काउट गाइड का चयन हो गया है। इन्हें भी राष्ट्रपति भवन नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में सम्मानित किया जायेगा। इस अवसर पर स्काउट मास्टर सीतराम सिन्हा भी उपस्थित थे।