जाॅर्डन में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद् की विशिष्ट सभा में भारत के एकमात्र प्रतिनिधि बने डाॅ चिन्मय पण्ड्या

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् की ओर से अंतराष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर जाॅर्डन में विशिष्ट सभा का आयोजन किया गया। अंतराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ रहे आतंकवाद, सामूहिक हत्या, नरसंहार, धर्म के नाम पर बढ़ रही हिंसा आदि का समाधान तलाशने को लेकर सभा अयोजित हुई। इन विषयों पर चर्चा के लिए 32 विद्वानों का चयन किया गया। जिसमें भारत से एकमात्र डाॅ चिन्मय पण्ड्या मौजूद थे। उन्होंने पंडित श्री राम शर्मा के विचारों को विशिष्ट सभा में रखा। इन विचारों के लिए उन्हें सर्वाधिक अंक मिले। डाॅ चिन्मय पण्ड्या द्वारा दिये गये गुरूदेव के विचारों को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में शामिल किया जायेगा।